Category: भगवत ज्ञान

0

अश्विन माह की कृष्ण पक्ष की इंदिरा एकादशी का व्रत ,विधि और कथा

हिंदू पचांग के अनुसार अश्विन माह की कृष्ण पक्ष की एकादशी पितरों को मुक्ति दिलाने के लिए उत्तम मानी जाती है। इस एकादशी को इंदिरा एकादशी के नाम से भी...

0

विजया एकादशी का महत्व ( पूजा,व्रत कथा)

फाल्गुन मास कृष्ण पक्ष की एकादशी का नाम विजया एकादशी है  विजया एकादशी का विशेष महत्व है इस व्रत को करने से मानव अपने जीवन में ,अपने लक्ष्य में विजय...

0

यज्ञ का महत्व

परमात्मा ने सृष्टि के निर्माण के साथ यज्ञ का ज्ञान दिया और अनिवार्य रूप से यज्ञ करने का आदेश भी दिया । तभी से यज्ञ करने की परम्पराएँ भी बनी...

0

दैव सम्पत्ति और आसुर सम्पत्ति

अभयं सत्तवसंशुद्धिर्ज्ञानयोगव्यवस्थिति: । दानं दमश्च स्वाध्यायस्तप ।।1।। अहिंसा सत्यमक्रोधस्त्याग: शान्तिरपैशुनम् । दया भूतेष्वलोलुप्त्वं मार्दवं ह्नीरचापलम्।।2। तेज: क्षमा घृति: शौचमद्रोहो नातिमानिता । भवन्ति सम्पदं दैवीमभिजातस्य भारत ।।3।। भगवान श्रीकृष्ण कहते है...

0

श्री हरि को प्रिय अपने भक्त

काकभुशुण्डि जी की स्तुति करने से श्रीहरि बहुत प्रसन्न हुए और कहने लगे कि हे काक अब मैं तुमको अपना निज सिद्धांत सुनाता हूँ । इसे सुनकर तुम अपने मन...

0

वैदिक संस्कार

गाय से जुड़ी कुछ रोचक जानकारी । 1. गौ माता जिस जगह खड़ी रहकर आनंदपूर्वक चैन की सांस लेती है । वहां वास्तु दोष समाप्त हो जाते हैं । 2....

0

शिव तांडव स्तोत्रम

जटाटवीगलज्जलप्रवाहपातिस्थले गलेवलम्ब्य लाम्बितां भुजगंतुग्डमालिकाम्। डमड्डमडमडमन्निनादवड्मर्वयं चकार चण्डताण्डवं तनोतु न: शिव: शिवम् ।।(1)।। जटाकटाहसम्भ्रमन्निलिम्पनिर्झरी विलोलवीचिवल्लरीविराजमानमूर्धनि। धगद्धगद्धगज्जवलल्ललाटपट्टपावके किशोरचन्द्रशेखरे रति: प्रतिक्षणं मम ।।(2)।। धराधरेन्द्रनंदिनी विलासबन्धुबन्धुरा स्फुरध्दगन्तसन्ततिप्रमोदमान मानसे। कृपाकटाक्षधोरणीनिरूद्धर्धरापदि क्वचिच्चिदम्बरे मनो विनोदमेतु वस्तुनि ।।(3)।।...

0

उत्पन्ना एकादशी

अर्जुन ने श्रीकृष्ण से पूछा कि हे वासुदेव इस संसार में मानव जो पाप कर्म करता है उससे कैसे छूटा जा सकता है सो आप हमें बतलाइये । अर्जुन की...

0

श्लोक

अजोपि सन्नव्ययात्मा भूतानामीश्वरोपि सन् । प्रकृति स्वामधिष्ठाय सम्भवाम्यात्ममायया ।। अर्थ- मैं अजन्मा और अविनाशी- स्वरूप होते हुए भी तथा सम्पूर्ण प्राणियों का ईश्वर होते हुए भी अपनी प्रकृति अधीन करके...