Category: ज्ञान गंगा

0

गोवर्धन पूजा goverdhan puja (अन्नकूट)पूजा,मान्यता, महत्व और लोककथा October 2019

दीपावली की अगले दिन गोवर्धन पूजा की जाती है। लोग इसे अन्नकूट के नाम से भी जानते हैं। इस त्यौहार का भारतीय लोकजीवन में काफी महत्व है। इस पर्व में...

नरक चतुर्दशी का व्रत,पूजा एवं दीपक जलाने का महत्व october 2019

दिवाली से एक दिन पहले कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी तिथि को नरक चतुर्दशी मनाई जाती है। इस दिन को छोटी दिवाली, रूप चतुर्दशी और यम दीपावली के नाम से भी पहचाना...

0

रमा एकादशी (Rama Ekadashi) का महात्‍व,पूजा विधि ,व्रत के नियम,एवं व्रत कथा october 2019

रमा एकादशी (Rama Ekadashi) का हिन्‍दू धर्म में बड़ा महात्‍म्‍य है। मान्‍यता है कि इस व्रत के प्रभाव से सभी पाप नष्‍ट हो जाते हैं। पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार जो...

प्रदोष व्रत october 2019

गुरुवार का दिन होने वाले प्रदोष व्रत को गुरु प्रदोष व्रत के नाम से जाना जाता है। हर माह के कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी को प्रदोष व्रत...

0

श्री दुर्गा चालीसा (Shri Durga Chalisa) 2019

नमो नमो दुर्गे सुख करनी। नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥ निरंकार है ज्योति तुम्हारी। तिहूँ लोक फैली उजियारी॥ शशि ललाट मुख महाविशाला। नेत्र लाल भृकुटि विकराला॥ रूप मातु को अधिक...

0

श्राद्ध कब , क्यो और कैसे करें ,जाने कौन कर सकता है तर्पण

ओम आगच्छन्तु पितर एवं ग्रहन्तु जलान्जलिम हे पितरों! पधारिये पितरों तथा जलांजलि ग्रहण कीजिए। पितृपक्ष में पितर स्वर्ग से उतरकर धरती पर वाश करेंगे। इस बार सोलह के स्थान पर...

पुत्रदा एकादशी व्रत, कथा एवं महत्व ( क्या मिलता है फल जाने)

युधिष्ठिर ने  पूछा- हे भगवान! आपने कमदा  एकादशी का  महत्व बता कर हम बड़ी  कृपा की। अब कृपा करके यह बतलाइए कि सावन मास की  शुक्ल पक्ष की  एकादशी  क्या...

0

अमर कथा (भगवत कथा) जो महादेव ने पर्वती जी को सुनाई

एक बार की बात है भगवान शिव कैलाश पर्वत पर ध्यान लगाए बैठे थे उसी समय माता पर्वती भगवान के पास आती है, उन्हें प्रणाम करती है और  हाथ जोड़कर ...

0

कामदा एकादशी का व्रत कथा एवं महत्व

कामदा एकादशी जिसे फलदा एकादशी भी कहते हैं, श्री विष्णु का उत्तम व्रत कहा गया है. इस व्रत के पुण्य से जीवात्मा को पाप से मुक्ति मिलती है. यह एकादशी...

0

राम भक्त हनुमान

  जय श्रीराम बात उस समय की है जब श्रीराम लंका से विजयी होकर लौटे थे एक दिन दरबार लगा हुआ था और प्रभु अपने सभी भक्तों को कुछ न...